राज्‍यों से
Breaking News

बदहाली और पुलिस की बर्बरता के आगे हारे किसान, जहर खाकर दी जान

मध्य प्रदेश के गुना में प्रशासन की निर्दयता की एक ऐसी होनी सामने आई है जिससे पुलिस प्रशासन पर सवाल उठ खड़े हुए हैं। दरअसल, कर्ज में डूबे किसान की फसल पर गुना के प्रशासन ने बुलडोजर चलवा दिया। जिसके बाद अपनी फसल को बचाने की गुहार लगाता हुए इस किसान और इसके परिवार पर पुलिस ने लाठियां बरसाईं। 

मध्यप्रदेश के गुणा में पुलिस की पिटाई खाने के बाद बेबस किसान ने कीटनाशक पी लिया था। किसान के बच्चे अपने मृतक पिता से लिपट कर रो रहे थे। इस मामले की वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है और गुना पुलिस की बर्बरता किसान और उसके परिवार पर साफ नज़र आ रही है। अब लोग शिवराज सिंह चौहान की सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। 

शिवराज का एक्शन

मामले की गर्मी को देख शिवराज की सरकार एक्शन में आई और इलाके के डीएम, एसपी और गुना के आईजी राजाबाबू का तबादला कर दिया गया। वहीं प्रदेश के गृह मंत्री नार्वोत्तम मिश्रा ने बताया कि घटना के लिए उच्चस्तरीय  जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने विश्वास दिलाया कि दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा। महाराज ज्योतिरादिया सिंधिया ने ट्वीट कर घटना को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि शिवराज जी से अनुरोध है असंवेदनशील अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही हो।

क्या है पूरा मामला?

हुआ यूँ कि जिस जमीन पर किसान दंपति खेती कर रही थी वो सरकारी रिकॉर्ड के हिसाब से पीजी कॉलेज की जमीन है। इस जमीन पर भू माफिया ने कब्ज़ा किया हुआ था और किसान को किराए पर दे दी थी।

 इस जमीन पर किसान और उसका परिवार पुश्तों से खेती कर रहा था। अहिरवार नाम के किसान की इस जमीन पर मेहनत करने से उसके परिवार का पेट पालता था। दलित किसान ने इस बार भी कर्ज लेकर खेत में फसल लगाई थी। फसल अच्छी चल निकली थी। 

लेकिन मंगलवार को अचानक एसडीएम के नेतृत्व में नगर पालिका की टीम यहां पहुंची और किसान की मेहनत पर बुलडोजर चला दिया। किसान के परिवार ने जब इसका विरोध किया तो पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाना शुरू कर दिया। बच्चों के सामने पुलिसवालों ने किसान दम्पति पर डंडे बरसाए। सदमे में आकर किसान दम्पति ने  कीटनाशक पी लिया।

विपक्ष ने उठाये सवाल

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश सरकार पर निशाना साधा और ट्वीट कर घटना पर दुःख जताया। उन्होंने कहा कि अपराधी बेख़ौफ़ घूम रहे हैं और प्रदेश जंगलराज की ओर लौट रहा है। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने घटना की ट्वीटर पर जमकर निंदा की। ट्वीट में उन्होंने गुना पुलिस और प्रशासन द्वारा अतिक्रमण के नाम पर दलित परिवार के कर्ज पर ली गई जमींन को बर्बाद करना और किसान को आत्महत्या पर मजबूर करने की बात को शर्मनाक बताया।इसके साथ उन्होंने सरकार से सख्त कार्यवाही की मांग की।

राहुल गांधी भी इसपर पीछे नही रहे और  शिवराज सरकार को घेरा। उन्होंने घटना का वीडियो ट्वीट कर लिखा कि हमारी लड़ाई इसी सोच और अन्याय के खिलाफ है।

जब देश में कानून है तो पुलिस का इस तरह का व्यवहार बेहद गलत है। मीडिया में आने के बाद तबादला तो कर दिया और अब इस मामले पर जमकर राजनीति हो रही है।

देखना यह होगा कि शिवराज सिंह की सरकार दोषियों को किस तरह सजा दिलवाती है और लोगों का भरोसा कैसे वापिस दिलाती है।

अदिति शर्मा
Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: