देश
Breaking News

कोरोना संकट के बीच भारत की ओर बढ़ रहा है Amphan का ख़तरा

कोरोना संकट के बीच मौसम विभाग ( IMD ) के अनुसार अगले 24 घन्टे में चक्रवर्ती तूफ़ान आ सकता है। इसके चलते वेस्ट बंगाल और ओडिशा के कुछ इलाको में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। इस तूफ़ान को ऐम्फन (Amphan) नाम दिया गया है। तूफ़ान के कारण पश्चिम बंगाल, मेघालय ओडिशा समेत 8 राजयों को भी एलर्ट किया गया है।

बता दें कि बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व में आज कम दबाव का क्षेत्र देखा गया। मौसम विभाग का कहना है कि ये अगले 24 घंटे में ये चक्रवर्ती तूफ़ान का रूप ले सकता है।  चक्रवात अम्फान में सबसे ज्यादा प्रभावित उत्तर तटीय ओडिशा हो सकता है। ODRF, NDRF तथा दमकल विभाग को सतर्क रहने के लिए निर्देश जारी कर दिया गया है। ओडिशा सरकार ने तूफ़ान की चेतावनी को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार से श्रमिक ट्रेन स्थगित करने का भी आग्रह किया है।

अनुमान है कि समुंद्र के अंदर 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवा चल सकती है। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों और इसके आसपास 45 से 55 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से हवा चलने और फिर 19 मई की दोपहर से 65 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान है। 20 मई की सुबह से हवा की गति 75 से 85 किलोमीटर प्रतिघंटा रहने की संभावना है।

विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना जानकारी दी की  बाजार में पर्याप्त मात्रा में खाद्य सामग्री मौजूद है। ऐसे में लोग इस बात से बिलकुल निश्चिन्त रहे। फिलहाल चक्रवात अम्फान पारादीप बंदरगाह से 1060 किमी और पश्चिम बंगाल के दीघा से 1250 किमी की दूरी पर है। रविवार शाम के बाद आशंका है कि उत्तरपूर्व दिशा की ओर बढ़े। 

एनडीआरएफ तैयार

संभावित चक्रवात से निपटने के लिए एनडीआरएफ पूरी तरह से सतर्क है। इस बात की जानकारी एनडीआरएफ के डीजी सत्य नारायण प्रधान ने ट्वीट कर दी है। उनका कहना है कि समूद्री तूफान से ओडिशा एवं पश्चिम बंगाल प्रभावित होगा, ऐसे में किसी भी मुश्किल परिस्थिति से निपटने के लिए नेशनल डिजास्टर रेस्पंस फोर्स (NDRF) तैयार और सतर्क है। साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि NDRF की 4-4 टीम पश्चिम बंगाल एवं ओडिशा में तैनात है। इसके साथ 20 टीम को स्टैंडबाय में रखा गया है।

अदिति शर्मा

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: