देश

विश्वभर में गर्मी का कहर: कनाडा से लेकर उत्तर भारत तक गर्मी से झुलस रहे लोग

चिल चिलाती गर्मी के कहर से लोग बेहाल हैं। विश्व के कई देशों में इस बार भयानक गर्मी पड़ रही है। कनाडा में हालात सबसे खराब हैं जहाँ गर्मी सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है।

चिल चिलाती गर्मी के कहर से लोग बेहाल हैं। विश्व के कई देशों में इस बार भयानक गर्मी पड़ रही है। कनाडा में हालात सबसे खराब हैं जहाँ गर्मी सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है। आग बरसाते सूरज से हल्कान कनाडा वासियों को गर्मी से भड़की जंगल की आग ने और मुश्किल में डाल रखा है। भीषण गर्मी से भड़की इस जंगल की आग ने पश्चिमी कनाडा में कई जगहों पर लोगों को घर बार छोड़ने पर मजबूर कर दिया है। लिटन क़स्बे के लोगों को आग के कारण सुरक्षित स्थानों पर भेजना पड़ा। आग इतनी तेजी से फैली कि लोगों को घरों से अपना सामान निकालने की भी मोहलत नही मिली।

कनाडा में गर्मी से पांच दिन में 486 लोगों ने तोडा दम

याद रहे कि इसी कस्बे में मंगलवार को पारा 49.6 डिग्री सैल्सियस या 121 डिग्री फारेनहाईट से भी ऊपर चला गया था। इस से पहले 1937 में दर्ज किया गया 45 डिग्री तापमान कनाडा में दर्ज सर्वाधिक तापमान था। भीषण गर्मी के बीच कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया इलाके में पांच दिन के भीतर 486 अचानक मौतें दर्ज की गयी हैं। यह ऐसी मौतों की सामान्य संख्या से तीन गुना अधिक है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि पश्चिमी कनाडा और अमेरिका के उत्तर पश्चिमी भाग में भीषण गर्मी का सिलसिला जारी रहेगा। इस से अन्य स्थानों पर भी जंगलों में आग भड़कने की आशंका बढ़ गयी है।

उधर उत्तर भारत में भी गर्मी से कोई खास राहत नही मिल रही है। मौसम विभाग के अनुसार पाकिस्तान से उत्तर पश्चिम भारत की की ओर आने वाली संभावित शुष्क हवाओं की वजह से आज और कल पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में गर्म लहर जारी रहेगी। वैसे आज देहरादून में हुई बारिश से लोगों को गर्मी से कुछ राहत ज़रुर मिली। लंबे इंतज़ार के बाद हुई वर्षा से तापमान में कुछ कमी आई।

बारिश के लिए करना पड़ सकता है इंतजार

हालांकि उत्तर भारत अन्य राज्यों में अभी बारिश के लिए कुछ और प्रतिक्षा करनी पड़ सकती है। मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ दिनों तक ऐसी परिस्थितियाँ बनने की उम्मीद नही है जो मानसून के आगे बढ़ने के लिए अनुकूल हों। मौसम विभाग के अनुसार मौसम संबंधी ताज़ा परिस्थितियों, व्यापक वायु मंडलीय लक्षणों और हवा के बहाव संबंधी भविष्यवाणी को ध्यान में रखते हुए अनुमान लगाया गया है कि अगले पांच छह दिनों तक दक्षिण पश्चिम मानसून के राजस्थान के बाकी हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पंजाब में आगे बढ़ने के लिए अनुकूल परिस्थितियाँ बनने की संभावना नही है।

बिहार, असम और मेघालय में आज से हो सकती है बारिश

वैसे बिहार, बंगाल, सिक्किम, असम, अरुणाचल और मेघालय में अधिकतर स्थानों पर बारिश की संभावना जताई गयी है। मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी से लेकर उत्तर पूर्वी और पश्चिमी भारत से लगे इलाक़ों में निचली शोभ मंडलीय परतों पर नम दक्षिण पश्चिम हवाओं के प्रभाव से अगले पांच दिनों में बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम के उप हिमालयी क्षेत्र, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में अधिकतर स्थानों पर वर्षा का अनुमान है। बिहार, असम और मेघालय के कुछ स्थानों पर आज से छह जुलाई के बीच तेज़ से बहुत तेज़ वर्षा की बहुत संभावना है।

कुल मिलाकर गर्मी की मार से परेशान लोगों को सारी उम्मीदें अच्छी बारिश से हैं ताकि तापमान नीचे आ सके। दिल्ली और उस से सटे इलाक़ों में भी मुसीबत बना मौसम लोगों का खूब पसीना निकाल रहा है लेकिन मौसम विभाग के अनुमान बता रहे हैं कि अभी बादलों का दिल पसीजने में कुछ दिन और लगेंगे।

Tags
Show More

Notice: Trying to access array offset on value of type bool in /home/khabarhatke/domains/khabarhatke.com/public_html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: