राज्‍यों से
Breaking News

बीते एक साल में भारतीय सेना ने मार गिराए 177 आतंकी

अगस्त 2020 में जम्मू कश्मीर के स्पेशल स्टेटस और 370 धारा को हटाने के बाद एक वर्ष पूरा हुआ। अब घाटी में कई तरह के बदलाव हुए हैं। हाल ही में, जम्मू कश्मीर में तैनात सेना को आतंक के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली। सेना ने मुठभेड़ मे कल तीन आतंकवादियों को मार गिराया।

डीजीपी दिलबाग ने क्या कहा?

डीजीपी जम्मू कश्मीर, दिलबाग सिंह ने अफ़सोस जताते हुए कहा कि इस मुठभेड़ में हमारे CRPF के एक सहयोगी भी घायल हो गए और एक सिविलियन की भी जान चली गयी। इसके साथ उन्होंने कहा अब तक इस साल में श्रीनगर में 7 सफल ऑपरेशन आतंक के खिलाफ किये जा चुके हैं। इन ऑपरेशन में 16 आतंकवादियों को मार गिराया गया है।

ऑपरेशन में एक सिविलियन की मौत, 2 CRPF जवान घायल। अधिकारियों ने बताया, जब सुरक्षाबलों को आतंकवादियों के मौजूद होने की सूचना मिली तभी उन्होंने बटमालू के फिरदौसाबाद इलाके में देर रात तक़रीबन ढाई बजे घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू कर दिया था। आगे बताया कि अभियान के दौरान आतंवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ हो गयी। इस दौरान एक महिला की मौत ही गयी और 2 CRPF के जवान घायल हो गए। 

सेना ने इस साल 177 आतंकी मार गिराए

गौरतलब है साल के शुरुआत से अबतक सेना ने घाटी में आतंकवाद से निपटने के लिए 72 ऑपरेशन किए। इनमे करीब 177 आतंवादियों को ढेर किया गया। मारे गए आतंकियों में विदेशी यानि पाकिस्तान से लिंक रखने वाले आतंकियों की संख्या ज्यादा रही। 22 आतंकी पाकिस्तान के संबंध के मारे गए।

पाकिस्तान सीमा पर नहीं दिखा रहा शांति

वहीं पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर के पूँछ इलाके में loc से सटे 2 सेक्टरों में गोलीबारी की और मोर्टार के गोले दागे। दूसरी तरफ सेना प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय सेना ने भी इसका मुँहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने बताया कि पाक ने बिना किसी उकसावे के सुबह बालाकोटा और मेंढर सेक्टर में सीजफायर उलंघन किया। आपको बता दें, इस महीने पाक ने 24 बार LOC का उलंघन किया।

इसके अलावा मंगलवार को भी पाकिस्तान की तरफ से राजोरी सेक्टर के सुंदरबनी इलाके में सीजफायर उलंघन हुआ था। इस घटना के दौरान सेना का एक जवान शहीद हो गया था और एक अधिकारी के साथ दो अन्य लोग घायल हुए थे। बता दें, 2 सितंबर को पाकिस्तान ने राजोरी के कैरी सेक्टर में सीजफायर विराम तोडा था, जिसमें एक जेसीओ मारा गया था।

अदिति शर्मा

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: