खेल
Breaking News

जल्द क्रिकेट के मैदान पर नज़र आएंगे श्रीसंत, टीम में मिली जगह

2007 और 2011 की विश्वकप विजेता भारतीय टीम के सदस्य रेह चुके तेज़ गेंदबाज़ एस श्रीसंत फिर से क्रिकेट कि पिच पर वापसी को तैयार है। केरला क्रिकेट एससिएशन (KCA) की ओर से रणजी टीम में चुने जाने पर श्रीसंत इस साल केरला की खेल के मैदान पर खेलते नज़र आएंगे। 

  • 2013 में श्रीसंत दिल्ली पुलिस द्वारा मैच फिक्सिंग के आरोप में गिरफ़्तार हुए थे
  • 2013 में BCCI ने श्रीसंत पर 7 साल का प्रतिबंध लगाया 
  • 2015 में एक विशेष अदालत द्वारा श्रीसंत बरी हुए
  • 2018 में हाई कोर्ट ने उन पर लगा बैन हटा दिया 

आईपीएल में मैच फिक्सिंग के चलते अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय क्रिकेट का प्रतिबंध झेल चुके भारतीय टीम के तेज़ गेंदबाज एस श्रीसंत के लिए एक राहत की खबर है। दरसअल केरल क्रिकेट एसोसिएशन (KCA) ने 7 साल के बैन के बाद सितंबर में राज्य की रणजी क्रिकेट टीम में तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को शामिल करने का फैसला किया है। मई 2013 में दिल्ली पुलिस ने स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में श्रीसंत अजीत चांडिला और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार किया था, ये तीनों खिलाड़ी राजस्थान रॉयल्स टीम के सदस्य थे। बाद में बीसीसीआई ने उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद उन्होंने लंबी कानूनी लड़ाई के बाद साल 2015 में दिल्ली की एक विशेष अदालत ने तीनों खिलाड़ियों को सभी आरोपों से बरी कर दिया था।

ट्रेंड कर रही इन खबरों को भी पढ़े

फिलहाल रणजी ट्रॉफी के आयोजन को लेकर बीसीसीआई ने कोई फैसला नहीं लिया है लेकिन श्रीसंत इस साल सितंबर में शुरू होने वाली टीम के कैंप में शामिल रहेंगे. केरल के टॉप गेंदबाज संदीप वॉरियर अगले सीजन में तमिलनाडु टीम के लिए खेलने वाले हैं ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि श्रीसंत को केरल टीम में मौका दिया जा सकता है। श्रीसंत ने कहा कि, ‘मैं खुद को मौका दिए जाने के लिए केरल क्रिकेट एसोसिएशन का शुक्रगुजार हूं।

श्रीसंत ने भारत की ओर से 87 विकेट हासिल किए

प्रतिबंध से पहले भारत की ओर से खेलते हुए श्रीसंत ने 27 टेस्ट मैचों में 87 विकेट चटकाए थे। वहीं वनडे मैचों में भारत का प्रतिनिधत्व करते हुए श्रीसंत ने 75 विकेट अपनी झोली में डाले। गौरतलब है कि श्रीसंत 2007 2011 की विश्व विजेता भारतीय टीम के सदस्य भी रह चुके है। हालांकि प्रतिबंध के बाद श्रीसंत एक्टिंग और राजनीति दोनों में किस्मत आजमा चुके है लेकिन इनमें उनको क्रिकेट जितनी सफलता हाथ नहीं लगी। 

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: