कोरोना
Breaking News

लॉक डाउन के ज़रिए प्रकृति का शुद्धीकरण  

कोरोना वायरस के कारण लगभग पुरी दुनिया में जारी है लॉक डाउन

इंसान जब प्रकृति का ख्याल रखने में नाकाम रहा, तब प्रकृति ने ख़ुद ये ज़िम्मा लिए और दुनिया भर में लॉक डाउन के माध्यम से अपने आप को शुद्ध कर लिया। दिल्ली जैसे अन्य प्रदूषित शहरों में आसमान साफ रहने लगा। लगभग 150 किमी दूर से ही हिमालय पर्वत की भी चोटी नज़र आने लगी। दशकों से गंदगी का दंश झेल रही गंगा व यमुना जैसी नदियां, स्वच्छ हो कर अविरल बहने लगी। वहीं जब इंसान शहरों व गांव तक सीमित न रह कर, जंगलों तक अपनी बादशाहत कायम करने लगा। तो वन्य जीव का जीवन भी सीमित होने लगा। लेकिन लॉकडाउन के दौरान, वन्य जीव को आजादी से शहरों की सड़कों का भ्रमण करते देखा जा सकता है।

दुनिया भर की सरकारों के द्वारा उठाए गए लॉकडाउन के कदम से प्रकृति को संवरने का मौका मिला है। ब्रिटेन के लॉकडाउन से भी प्रकृति को उसका खोया हुआ रुप मिल रहा है। वैसे भी पूरी दुनिया में इसका असर नई दिल्ली में साफ आसमान और स्पेन की सड़कों पर चलते हुए हिरण के रुप में देखने को मिल रहा है। दुनिया भर में लॉकडाउन से वन्य जीवों के लिए अच्छी खबर हैं। वन्य जीव रिजर्व में हिरण, खरगोश सहित कई जानवार खुलेआम विचरण करते हुए नजर आ रहे हैं। कुल मिलाकर लबो लबाब यही है, इंसान को लगता है कि सारी प्रकृति उसकी जागीर है, और वही उसकी देख रेख़ करने वाला है। लेकिन तभी ऊपर वाला इंसान को किसी न किसी माध्यम से याद दिला देता है, कि असली पालनहार व सारी सृष्टि का रचयिता वो ही है.. बेशक वहीं है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: