देश
Breaking News

मोदी ने मुस्लमानों से क्यों की ज़्यादा इबादत करने की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के साथ अपनी मन की बात साँझा की। हर महीने के आख़री रविवार को प्रसारित होने वाले मन की बात कार्यक्रम का ये 64वा संस्करण था। मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ यह जंग जनता लड़ रही है और हम सब कोरोना योद्धा है।

  • पीएम ने रमज़ान के लिए की ख़ास अपील

प्रधानमंत्री ने  मुस्लिम समुदाय के लोगो से रमज़ान के दौरान ज्यादा ज्यादा इबादत करने की अपील की। उन्होंने कहा कि ऐसे मुश्किल समय में रमजान को धैर्य, संवेदनशील और सेवा का प्रतीक बनाने का अवसर है साथ ही कहा कि मुस्लिम पहले से ज्यादा इबादत करे जिससे दुनिया कोविड़-19 से ईद तक मुक्त हो जाए। उन्होंने विश्वास जाहिर करते हुए कहा कि रमजान के इन दिनों में स्थानीय प्रशासन के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए कोरोना के खिलाफ चल रही इस लड़ाई को हम और आप इसे और मजबूती से लड़ेगें।

  • किसानों का आभार


प्रधानमंत्री ने किसान भाई बहनों का भी आभार व्यक्त किया। इस महामारी के बीच भी किसान अपने खेतों में दिनरात मेहनत कर रहे हैं  और यह सुनिष्चित कर रहे है, कि देश में कोई भूखा ना सोये। साथ ही उन्होने कहा आज किसानों की मेहनत के कारण ही हमारे पास पर्याप्त अन्न भंडार है।

  • मुश्किल वक्त में त्योहार

पीएम ने कहा कि इस महामारी के बीच लोगो ने लॉकडौन का पालन करते हुए त्योहारों को सादगी से मनाया। बीते दिनों बैसाखी, जैसे कई त्यौहार आये जिसमे लोगो ने बड़ा सहज  व्यव्हार दिखाया। साथ ही पीएम ने कहा कि इस बार हमारे ईसाई दोस्तों ने ईस्टर भी घर पर ही मनाया है।

  • नई आदत का जन्म

पीएम बोले कि एक जागरूकता जो आई है वह है सार्वजनिक रूप से थूकने का नुकसान। अब समय आ गया है कि इस बुरी आदत को हमेशा के लिए मिटा दिया जाए। पीएम मोदी ने कहा कि COVID-19 ने हमारी कार्य शैली, जीवन शैली और आदतों में कई सकारात्मक बदलाव लाए हैं, आप देखेगें कि मास्क सभ्य समाज का प्रतीक बन जाएगा।

  • आयुर्वेद पर दुनिया की नजर

पीएम ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कई बार, हम अपनी क्षमता का एहसास करने से इंकार कर देते हैं और जब कोई देश हमें साक्ष्यआधारित अनुसंधान पर अपना सूत्र सिखाता है, तो हम इसे जल्दी अपनाते हैं।
उन्होंने कहा कि आज दुनिया भर में लोग भारत के योग और आयुर्वेद की ओर देख रहे हैं।साथ ही आयुष मंत्रालय द्वारा प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले प्रोटोकॉल का अभ्यास करने पर जोर दिया। उन्होंने देश की राज्य सरकारो की भी प्रशंसा की और कहा कि वे इस महामारी से निपटने के लिए सक्रिय भूमिका निभा रही हैं। साथ ही कहा कि स्थानीय प्रशासन, राज्य सरकारें जो जिम्मेदारी निभा रही हैं, उसकी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बड़ी भूमिका है। उनका ये परिश्रम बहुत प्रशंसनीय है। हमारे डॉक्टर, नर्सिज, पैरामेडिकल स्टाफ, सामुदायिक स्वास्थ्यकर्मियों और ऐसे सभी लोग, जो देश कोकोरोनामुक्तबनाने में दिनरात जुटे हुए हैं, उनकी रक्षा करने के लिए जो कदम उठाया गया है वो भी अनिवार्य था।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ताली, थाली, दीया, मोमबत्ती, इन सारी चीज़ों ने जिन भावनाओं को जन्म दिया। जिस जज्बे से देशवासियों ने कुछकुछ करने की ठान ली, हर किसी को इन बातों ने प्रेरित किया है। पीएम मोदी ने कहा की एक और जहाँ हमने अपनी जरूरतें पूरी की हैं वही दूसरी ओर हमने ऐसे समय में भी दुसरे देशो की मदद करके मानवता दिखाई है। उन्होंने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि आज पूरा देश, देश का हर नागरिक, जनजन इस लड़ाई का सिपाही है और लड़ाई का नेतृत्व भी कर रहा है। हर कोई अपने तरीके से इस लड़ाई में योगदान दे रहा है। उन्होंने कहा इस लड़ाई में जनता लड़ रही है और जनता के साथ प्रसाशन लड़ रहा है। साथ ही उन्होंने जनता से अपील की कि लोग सरकार द्वारा एक प्लेटफॉर्म पर जो भी चाहें उसमें योगदान कर सकते हैं। साथ ही पीएम ने कहा कि आप covidwarriors.gov.in पर जाकर अपना योगदान दे सकते हैं।

रिपोर्ट– अदिति शर्मा

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: