राज्‍यों से

नंदीग्राम संग्राम : ऐसे दे रही हैं ममता बनर्जी बीजेपी को टक्कर

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए यह चुनाव काफी अहम है। दीदी की पार्टी से कई लोगों ने चुनाव से पहले इस्तीफा दिया और उनके मनोबल को बीजेपी ने कई बार हिलाने की कोशिश की। मगर दीदी भी अपनी तैयारी के साथ इस चुनावी संग्राम में उतर चुकी हैं।

पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए बीजेपी और टीएमसी का प्रचार जोरो पर है। अब 1 अप्रैल को पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के वोट डाले जाएंगे। नंदीग्राम कौन जीतता है इसपर सबकी नजऱ टिकी है। वैसे तो नंदीग्राम पर पिछले 10 सालों से टीएमसी का ही झंडा है। मगर इस बार यह सीट इसलिए भी अहम् है क्योंकि ममता खुद इस सीट पर अपने पूर्व सहयोगी शुभेंदु अधिकारी के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ेंगीं।

नंदीग्राम मेरी जगह है, ममता

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इन दिनों व्हीलचेयर पर चुनाव प्रचार कर रही हैं। आज उन्होंने नंदीग्राम में पदयात्रा के दौरान इमोशनल होते हुए कहा कि अगर मैंने नंदीग्राम में एक बार प्रवेश किया है, तो मैं नहीं छोडूंगी। उन्होंने नंदीग्राम को अपनी जगह बताया और कहा कि मैं किसी अन्य निर्वाचन क्षेत्र से भी चुनाव लड़ सकती थी लेकिन मैंने अपनी माताओं और बहनों क्र सम्मान में नंदीग्राम को चुना है। दीदी ने कहा कि नंदीग्राम आंदोलन को सलाम करने के लिए मैंने सिंगूर के ऊपर नंदीग्राम को रखा।

दीदी ने बंगाल की जनता के सामने बार बार स्पष्ट किया है कि उनका मकसद बंगाल के अच्छे भविष्य के लिए बीजेपी को बहार करना है और इसके लिए बीजेपी का दफ़्न होना जरूरी है। नंदीग्राम पदयात्रा में ममता ने वोटर्स से अपील करते हुए कहा कि बीजेपी को दफ्न कर दो।

ममता की पदयात्रा बनाम शाह का रोड शो

एक और जहां ममता बनर्जी बंगाल की जनता से लगातार अपने मन की बात कर रही हैं और वोटर्स से उन्हें वोट करने की अपील कर रही हैं। तो वहीं दूसरी और गृहमंत्री भी अपने काम में लगे हुए हैं। आज उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी के समर्थन में रोड शो किया। टीएमसी के पूर्व नेता शुभेंदु अधिकारी ने नंदीग्राम पर कहा कि यह उनके लिए सिर्फ माटी नहीं है, बल्कि यहां के कण कण से उनका जुड़ाव है। उन्होंने कहा कि वो यहां की जनता से झूठे वादे नहीं कर सकते हैं और देश को सही दिशा देने के लिए नंदीग्राम के लोगों से अपील की।

बता दें नंदीग्राम की सीट दोनों BJP और TMC के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है। दीदी ने हाल ही में कहा था कि पिता और पुत्र ने उनकी पीठ में छूरा भोंका। उन्होंने यह भी कहा कि पिछले 10 वर्षों में पार्टी ने उन्हें बहुत कुछ दिया लेकिन जब मौका आया तो उनके साथ दगाबाजी हुई। ममता बनर्जी ने विश्वास जताया कि जनता उनकी दगाबाजी का जवाब जरूर देगी।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: