देश
Breaking News

राहुल के इस बयान से महाराष्ट्र में बढ़ी सियासी संकट की आशंका

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को मीडिया से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग की। उन्होंने कहा कि भारत में लॉक डाउन का मकसद फ़ैल हुआ है। साथ ही उनके महाराष्ट्र में केवल समर्थन में हैं वाले बयान से महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में खलबली मच गई। दुनिया में भारत ही एक ऐसा देश है जहाँ इतना लंबा लॉक डाउन होने के बावजूद भी संक्रमण तेजी से हो रहा है।

वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए मीडिया को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण में आने के बाद भी जिन नतीजों की बात पीएम मोदी कर रहे थे, आज हम उसके आस पास भी नही हैं। राहुल ने चुटकी लेते हुए कहा कि पहले प्रधानमंत्री फ्रंटफुट पर खेल रहे थे, लेकिन लॉक डाउन फेल होने पर बैकफुट पर चले गए।

उन्होंने कहा प्रधानमंत्री और उनके प्रमुख सलाहकारों ने जो मई के आखिर तक इसका संक्रमण खत्म होने की बात कही थी, ऐसा लग तो नही रहा। राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से पुछा की प्रवासियों के लिए सरकार का आगे का प्लान क्या है ? लॉक डाउन खोलने के क्या इंतेजाम हैं?

  • महाराष्ट्र में कोरोना पर बोलेडिसिशन मेकर नहीं हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। जब इस पर राहुल गांधी से सवाल किया तो वे इससे बचते नज़र आए। इस सवाल पर राहुल ने कहा कि महाराष्ट्र में हम समर्थन में हैं लेकिन वहां हमें फैसला लेने की क्षमता नहीं है। हालांकि उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र को केंद्र सरकार की मदद मिलनी चाहिए। राहुल के इस बयान के बाद महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में दरार पड़ सकती है।

  • ग़रीबो के हाथ में पैसा दे सरकार

राहुल गांधी ने कहा मोदी सरकार के इस आर्थिक पैकेज से कुछ नही होने वाला। सरकार को लोगों के हाथों में पैसा देना होगा। सरकार आम लोगों को और इंडस्ट्रीज को मदद नही देगी तो आने वाले समय में हालात और बिगड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार, राज्यों के साथ समन्वय बनाये रखे और मदद दे।

  • बॉर्डर सिक्योरिटी पर ध्यान देने की जरूरत

मौजूदा दौर में  नेपाल, चीन और पाकिस्तान की सीमाओं पर बढ़ते तनाव पर राहुल का कहना है कि सरकार बॉर्डर की असली गतिविधियों के बारे में बताये। आखिर चीन के साथ क्या मसला चल रहा है और नेपाल में क्या हुआ था? लद्दाख में क्या चल रहा है, इन सब मुद्दों पर पारदर्शिता बनाना जरूरी है।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के बीते 60 दिन में ये राहुल की चौथी प्रेस कॉन्फ्रेंस थी। इस दौरान उन्होंने दो बार नेशनल मीडिया से और दो बार रीजनल मीडिया से बात की।

अदिति शर्मा

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: