देश
Breaking News

मीडिया के सामने ये क्या बोल गए राहुल

देश भर में फैली कोरोना महामारी के कारण चल रहे लॉकडाउन के २१ वें दिन आखिरकार कोई विपक्ष नेता सामने आया। कांग्रेस नेता राहुल गांधी  वीडियो कांफ्रेसिग के ज़रिए मीडिया से मुखातिब हुए। दरअसल राहुल गांधी पिछले कुछ दिनें से कोविड-१९ को लेकर सरकार की नीतियों पर सवाल हठा रहे है। मीडिया से बातचीत में राहुल गांधी ने लॉकडाउन पर सवाल उठाते हुए कहा कि लॉकडाउन कोरोना का हल नहीं है। यह एक तरह से पॉज बटन की तरह है। राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मैंने पिछले एकदो महीने में कई एक्सपर्ट्स से बात की है, लॉकडाउन कोरोना संकट का हल नहीं है। यह कुछ समय के लिए कोरोना को रोक सकता है, मगर खत्म नहीं कर सकता है। जब देश लॉकडाउन से बाहर आएगा तो इसका असर फिर से दिखना शुरू हो जाएगा। लॉकडाउन सिर्फ तैयारी करने का वक्त देता है। लॉकडाउन से कोरोना वायरस को नहीं हराया जा सकता। राहुल गांधी ने सारा ज़ोर इस बात पर दिया कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट हो जिससे इस संक्रमण को आइसोलेट किया जाए। भारत में हो रहे कोरोना की टेस्ट दर पर चिंता जताते हुए राहुल ने कहा कि टेस्ट एक मात्र इसका इलाज है।साथ ही उन्होने कहा कि हमें उन इलाकों में भी टेस्टिंग करनी होगी जहां केस नहीं है। रैंडम टेस्टिंग की देश में जरूरत है। इस कोरोना वायरस के खिलाफ पूरे देश को एकजुट होना पड़ेगा। राहुल गांधी ने सरकार को सलाह दी कि राज्यों के मुख्यमंत्रियों से खुलकर बात कीजिए और उनकी मांगों को सुना जाए और उन्हें ज्यादा से ज्यादा अधिकार दिए जाए। भूख से बिलखते मजदूरों के सवाल पर राहुल ने कहा कि सरकारी गोदाम में अनाज की कमी नहीं है और यही वक्त है जब उसकी ज़रुरत देश को है। साथ ही उन्होने सरकार से अपील  से आग्रह किया कि फूड का सेफ्टी नेट तैयार करना होगा। जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं, उन्हें भी मुफ्त राशन दीजिए। साथ ही न्याय योजना के तहत पैसे दीजिए, भले ही आप इस योजना का नाम न दें और दूसरा नाम यूज करें।वहीं राहुल गांधी ने कहा कि देशभर में लॉकडाउन को रणनीति के तहत खोलना होगा। उन्होंने कहा कि अगर बीमारी से लड़ना हो तो हिन्दुस्तान को जातिधर्म को भूलकर एक होना पड़ेगा। जहां हिन्दुस्तान ने बीच में लड़ाई की, बात वहीं खत्म हो जाएगी। इस बीमारी के लिए बड़े पैमाने पर जांच होनी चाहिए। इससे किसी को नुकसान नहीं है। उन्होंने देशवासियों से कहा कि आपको इस कोरोना वायरस से डरने की जरूरत नहीं है। भारत इससे लड़ेगा और जीतेगा। यह थोड़ा कठिन और मुश्किल जरूर है, मगर हम सब मिलकर इससे लड़ेंगे। भारत जानता है कि किस परेशानी से कैसे लड़ा जाता है। भारत की आवाम से मुखातिब होते हुए राहुल ने कहा कि बहुत लोगों को डर लग रहा है कि बेरोजगारी होगी, भोजन नहीं मिलेगा। आपको डरने की जरूरत नहीं है। हिन्दुस्तान इस वायरस को हरा देगा, मगर हमको एकजुट होकर लड़ना होगा। वायरस हमें यह संदेश दे रहा है कि अगर हम एक हो गए तो उसे हरा देंगे और बंट गए तो फिर हम हार जाएंगे। पूरा हिन्दुस्तान एकजुट होकर इससे लड़ेगा। कांग्रेस पार्टी सरकार को सकारात्मक सुझाव देना चाहती है। भले सरकार ले या ना ले। वायरस को हराने के बाद हिन्दुस्तान तेजी से आगे बढ़ सकता है। मगर हमें बिना डरे लड़ना होगा।

 

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: